Rajasthan high court LDC Most Import Que


Wild Life Que
Wild Life Que


 वन्य जीवन 


1. राजस्थान में उड़न गिलहरी किस अभ्यारण में पाई जाती है

उतर-  सीतामाता वन्यजीव अभयारण्य

नोट- सीतामाता वन्यजीव अभयारण्य प्रतापगढ़ चित्तौड़गढ़ और उदयपुर में फैला हुआ है सर्वाधिक जैव विविधता वाले इस अभ्यारण्य को चीतल की मातृभूमि तथा उड़न गिलहरी ओ का स्वर्ग कहा जाता है


 2. किस राष्ट्रीय उद्यान या वन्यजीव अभयारण्य में जोगी महल स्थित है

उतर- रणथंबोर राष्ट्रीय उद्यान

नोट- रणथंबोर राष्ट्रीय उद्यान सवाई माधोपुर में स्थित है 1973 में इसे बाघ परियोजना में शामिल किया गया जो राजस्थान की पहली बाघ परियोजना थी रणथंबोर को भारतीय भागों का घर भी कहा जाता है वन्यजीवों की विविधता को देखते हुए इसे 1 नवंबर 1980 को राष्ट्रीय उद्यान घोषित किया गया यहां पर प्रमुख दर्शनीय स्थलों में रणथंबोर दुर्ग, जोगी महल, त्रिनेत्र गणेश मंदिर तथा पदम तालाब प्रमुख है यहां इस तथ्य को उल्लेखित करना प्रासंगिक होगा कि नव लखा दरवाजा भी रणथंबोर दुर्ग में है


3. हरे कबूतर राजस्थान के किस अभ्यारण में पाए जाते हैं

उतर- सरिस्का

नोट-  यह अभयारण्य अलवर जिले में स्थित है यहां पर राजस्थान की दूसरी बाघ परियोजना 1978-79 मे शुरु की गई, यहां पर कनकनवाड़ी का किला, बाबा भृतहरी की समाधि पांडुपोल का हनुमान मंदिर प्रमुख दर्शनीय स्थल है यहां इस तथ्य को उल्लेखित करना प्रासंगिक होगा कि सरिस्का 'अ' राजस्थान का सबसे छोटा वन्यजीव अभयारण्य है


4. केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान का नामकरण किसके नाम पर किया गया है

उतर- शिव मंदिर 

नोट- केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान भरतपुर में स्थित है 1985 में यूनेस्को के द्वारा इसे विश्व धरोहर सूची में शामिल किया गया रामसर कन्वेंशन के तहत केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान को आद्र भूमि के अंतर्गत भी शामिल किया जा चुका है इसके अलावा सांभर झील भी रामसर साइट्स में शामिल है केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान को पक्षियों का स्वर्ग भी कहा जाता है यहां साइबेरिया प्रांत से शीतकाल में सारस पक्षी प्रवास के लिए आते हैं यह राष्ट्रीय उद्यान पक्षी वैज्ञानिक सलीम अली की कर्म स्थली रही है इस राष्ट्रीय उद्यान में पानी की आपूर्ति हेतु भरतपुर के अजान बांध से की जाती है और भगवान शिव का प्राचीन मंदिर होने के कारण इसका नाम केवलादेव पड़ा


5. राजस्थान का कौनसा अभयारण्य भेड़ियों की प्रजनन स्थली कहलाता है

उतर- कुभंलगढ

नोट- कुंभलगढ़ अभयारण्य उदयपुर पाली राजसमंद में फैला हुआ है यह राजस्थान का एकमात्र ऐसा अभयारण्य है जहां से प्रदेश की दो अलग-अलग दिशा में बहने वाली बनारस तथा साबरमती नदियों का उद्गम होता है रणकपुर जैन मंदिर, कुंभलगढ़ दुर्ग ,परशुराम महादेव मंदिर और जंगली धूसर  मुर्गे इस अभयारण्य में पाए जाते हैं


6. राजस्थान में खस उत्पादित जिले कौन से हैं

उतर- टोंक सवाई माधोपुर भरतपुर

नोट- यह एक सुगंधित घास होती है इसके बीज का उपयोग शरबत तथा इत्र बनाने में किया जाता है


7. काजरी का मुख्यालय कहां पर है

नोट- इसकी स्थापना 1959 में की गई थी इसका मुख्यालय जोधपुर में है वही आफरी मुख्यालय भी जोधपुर में ही है


8. राजस्थान राज्य जैव विविधता बोर्ड का गठन कब किया गया

उतर-2010


9.मरु  विकास कार्यक्रम कब शुरू किया गया था

उतर- 1977-78

नोट- प्रारंभ में यह 10 जिलों में शुरू किया गया था बाद में 1995 में यह कार्यक्रम 16 जिलों में संचालित किया जाने लगा इसमें केंद्र और राज्य सरकार की भागीदारी का अनुपात 75:25 है

वही  सूखा संभावित क्षेत्र विकास कार्यक्रम 1974-75 मे शुरु किया गया


10. राजस्थान में सर्वाधिक वन क्षेत्र वाला जिला कौन सा है

उतर- उदयपुर

नोट- राजस्थान में न्यूनतम वन क्षेत्र चूरु जिले में है सर्वाधिक वन क्षेत्र प्रतिशत में उदयपुर में है वही न्यूनतम वन क्षेत्र प्रतिशत में जोधपुर में है