भौतिक एवं प्रशासनिक स्वरूप

भौतिक एवं प्रशासनिक स्वरूप

भौतिक एवं प्रशासनिक स्वरूप 

    इसलिए प्रतियोगी राजस्थान के सामान्य ज्ञान का अध्ययन प्रारम्भ करते हुए इस अध्याय को अच्छी तरह पढ़कर समझ ले तथा कम से कम दो-चार बार राजस्थान का प्राकृतिक व भौतिक मानचित्र पर अभ्यास करें।

- पृथ्वी अपने वर्तमान स्वरूप की प्रारम्भिक अवस्था में मुख्य रूप से तीन भागों में बँटी हुई थी।
दो बड़े भूखण्ड (1)अंगारा लैण्ड,(2) गोंडवाना लैण्ड। 3  एक विशाल जलाशय टेथिस सागर

 
    राजस्थान का पश्चिमी रेगिस्तान तथा रेगिस्तान में स्थित खारे पानी की झीलें टेथिस सागर के अवशेष है तथा राजस्थान का मध्यवर्ती पहाड़ी क्षेत्र (अरावली पर्वतमाला) एवं दक्षिण-पूर्वी पठारी भाग गौंडवाना लैण्ड के अवशेष हैं। राजस्थान की अधिकांश भू-पृष्ठीय संरचना टेथिस सागर का अवशेष है। मध्यकाल तथा पूर्व आधुनिक काल में राजस्थान में अधिकांश राजपूत राजवंशों का शासन था। इसलिए सन् 1800 ई. में जार्ज थॉमस ने इस प्रदेश को सर्वप्रथम राजपूताना नाम दिया था। मेवाड़ रियासत के ब्रिटिश रेजिडेन्ट जो कुछ समय के लिए मारवाड़ रियासत के ब्रिटिश रेजिडेन्ट रहे थे, कर्नल जेम्स टॉड ने 1829 ई. में अपनी पुस्तक एन्टिक्यूटिज ऑफ राजस्थान' में इस प्रदेश को सर्वप्रथम रायथान, रजवाड़ा एवं राजस्थान नाम दिया था। नोट-पुस्तक का पूर्व नाम-"द सैन्ट्रल एण्ड वैस्टर्न राजपूत स्टेट ऑफ इंडिया"। पुरानी बहियों के अनुसार भी कर्नल जेम्स टॉड ने इस प्रदेश को रजवाड़ों एवं रायथान नाम से सम्बोधित किया था। 226 जनवरी 1950 को लागू भारतीय संविधान में इस प्रदेश को 'राजस्थान राज्य के रूप में स्थापित किया गया जिसका वर्तमान स्वरूप 1 नवम्बर, 1956 को मिला था। छ विस्तार राजस्थान उत्तरी अक्षांशों एवं पूर्वी देशान्तरों पर स्थित है।  राजस्थान का अक्षांशीय जी विस्तार 23°3' उत्तरी अक्षांश से 30°12' उत्तरी अक्षांश तक है जो दक्षिण में बौरकुण्ड (बाँसवाड़ा) से उत्तर में कौणा गाँव (श्रीगंगानगर) तक है।

राजस्थान  नजर में 

पंजाब व हरियाणा देानो राज्यो के साथ सीमा बनाता है. - हनुमानगढ
 हरियाणा व उत्तरप्रदशे दोनो  राज्यो के साथ सीमाना बनाता है - भरतपुर
उत्तरप्रदेश व मध्यप्रदेश दोनो राज्यो के साथ सीमा बनाता है - धौलपुर
मध्यप्रदेष व गुजरात देानो राज्यों के साथ सीमा बनाता है - बाॅसवाड़ा
राजस्थान मे कुल कितने जिले अन्तर्राज्य सीमा बनाते है - 23
राजस्थान में कुल कितने जिले केवल अन्तर्राज्यीय सीमा बनाते है - 21
राजस्थान के कुल कितने जिले अन्तर्राष्ट्रीय सीमा बनाते है - 4
केवल अन्तर्राष्ट्रीय सीमा जिले - 2 जैसलमेर व बीकानेर 
राजस्थान के कुल कितने जिले अन्तर्राज्यीय व अन्तर्राष्ट्रीय दोनो प्रकार की सीमाएं बनाते है - श्रीगंगानगर व बाड़मेर
राजस्थान के कितने जिले अन्तर्राज्यीय व अन्तर्राष्ट्रीय सीमा में से कोई एक बनाते है - 25
पाकिस्तान के साथ सबसे लम्बी अन्तर्राष्ट्रीय सीमा वाला जिला - जैसलमेर- 464 किमी.
पाकिस्तान के साथ सबसे छोटी अन्तर्राष्ट्रीय सीमा वाला जिला  - बीकानेर - 168 किमी
श्रीगंगानगर व बीकानेर की सीमा से लगने वाला पाकिस्तान का जिला - बहाबलपुर
सबसे लम्बी अन्तर्राज्यीय सीमा बनाने वाला जिला - झालावाड
अन्तर्राष्ट्रीय सीमा से लगने वाले जिलो में पाकिस्तान से सर्वाधिक दूर स्थित शहर है - बीकानेर
राजस्थान किस राज्य की दक्षिण- पष्चिम सीमा पर स्थित है - हरियाणा 
किस राज्य की उत्तरी व उत्तरी पूर्व सीमा राजस्थान से लगती है- गुजरात
राजस्थान की कुल 4850 कि मी लम्बी अन्तर्राज्यीय सीमा है जो पांच राज्यो से लगती है।
उत्तीर राजस्थान के जिले - गंगानगर,हनुमानगड,चूरू,बीकानेर
दक्षिण राजस्थान के जिले - उदयपुर,डूंगरपुर,बांसवाडा,प्रतापगढ़,राजसंमद,चितौडगड़,भीलवाडा
पूर्वी रास्थान के जिले - अजमेर,जयपुर,दौसा,सीकर,झुंझुनूं, अलवर, भरतपुर,धौलपुर, सवाईमाधोपुर, करोली                                      टोंक
पष्चिम राजस्थान के जिले - जोधपुर, नागौर,पाली,जैसलमेर,बाड़मेर,जालौर,सिरोही,
दक्षिण पूर्व राजस्थान के जिले - कोटा,बूंदी,बारां, झालावाड
प्यालेनूमा आकार वाला जिला - सीकर
त्रिभुजाकृति में विस्तृत जिला - डंूगरपुर
राजस्थान की आकृति है - विषमकोण चतुर्भूज